इथियोपिया: सरकार और अलगाववादी गुट के बीच शान्ति समझौते का स्वागत | Ethiopia

यूएन प्रमुख के प्रवक्ता द्वारा बुधवार को जारी एक वक्तव्य में, महासचिव गुटेरेश ने कहा कि अफ़्रीकी संघ और नाइजीरिया के पूर्व राष्ट्रपति ओलुसेगन ओबासांजो के मध्यस्थता प्रयासों के फलस्वरूप, स्थाई शान्ति के लिये हुआ समझौता एक महत्वपूर्ण शुरुआत है.

उन्होंने आशा जताई कि इससे हिंसक संघर्ष पर विराम लगाने में मदद मिलेगी, जोकि कई महीनों के तनाव के बाद, नवम्बर 2020 में शुरू हुआ था, और जिसकी वजह से अनेक जीवन और आजीविकाएँ बर्बाद हो गई हैं.

महासचिव ने अपने वक्तव्य में सभी इथियोपियाई नागरिकों और अन्तरराष्ट्रीय समुदाय से देश की संघीय सरकार व टीगरे क्षेत्र के नेतृत्व द्वारा उठाए गए साहसिक क़दमों का समर्थन करने का आग्रह किया है.

संयुक्त राष्ट्र विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने शुक्रवार को कहा कि टीगरे में लगभग 52 लाख लोगों को मानवीय सहायता की ज़रूरत है, जिनमें से 38 लाख लोगों को स्वास्थ्य देखभाल की आवश्यकता है.

इस क्षेत्र में अंतिम बार मानवीय सहायता दो महीने पहले ही पहुँचाई गई थी.

इससे पहले, यूएन स्वास्थ्य एजेंसी के प्रमुख डॉक्टर टैड्रॉस एडहेनॉम घेबरेयेसस ने कहा कि बड़ी संख्या में विस्थापित लोग टीगरे क्षेत्र की राजधानी में पहुँच रहे है और अन्य अभी रास्ते में हैं. उनकी ज़रूरतों का स्तर हर दिन बढ़ रहा है.

दोनों पक्षों पर मानवाधिकारों का गम्भीर उल्लंघन करने और युद्ध अपराधों को अंजाम दिये जाने और आरोप लगे हैं, जिनमें हज़ारों लोग मारे गए हैं. 

समाचारों के अनुसार, अफ़्रीकी संघ ने इस समझौते को एक “नई सुबह” क़रार दिया है और दोनों पक्षों द्वारा निरस्त्रीकरण योजना पर आधिकारिक सहमति बनने का स्वागत किया है, जिसके तहत राहत सामग्री की आपूर्ति को बहाल किया जाएगा.

अन्य चुनौतियाँ

महासचिव ने समझौते को लागू करने में सभी पक्षों को अपना समर्थन देने का वादा करते हुए सुलह की भावना के साथ अन्य मुद्दों पर बातचीत जारी रखने के लिये आग्रह किया.

उन्होंने दोनों पक्षों से हथियारों को त्याग कर शान्ति व स्थिरता के रास्ते पर चलने पर ज़ोर दिया ताकि स्थाई राजनैतिक समाधान तक पहुँचा जा सके.

महासचिव एंतोनियो गुटेरेश ने सभी हितधारकों से युद्धविराम के इस अवसर का लाभ उठाने की अपील की ताकि ज़रूरतमंद नागरिकों के लिये मानवीय सहायता और बेहद आवश्यक सार्वजनिक सेवाओं को बहाल किया जा सके.

यूएन प्रमुख ने शान्ति वार्ता को आगे बढ़ाने के लिये अफ़्रीकी संघ और उसके उच्चस्तरीय पैनल की और इस वार्ता की मेज़बानी करने में महत्वपूर्ण भूमिका के लिये दक्षिण अफ्रीका की सराहना की.

महासचिव ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र अफ़्रीकी संघ के नेतृत्व वाली प्रक्रिया के अगले चरणों में सहायता के लिये तैयार है और प्रभावित क्षेत्रों में पीड़ा को कम करने के लिये अति आवश्यक सहायता प्रदान करने के प्रयास जारी रखेगा.

Source: संयुक्त राष्ट्र समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *