DRC: घातक हमलों की निन्दा, जाँच के निर्णय का स्वागत भी

यूएन प्रमुख ने, 29 और 30 नवम्बर को, उत्तरी कीवू प्रान्त के एक इलाक़े में हुए उन हमलों की कड़ी निन्दा की थी.

ये इलाक़ा देश के पूर्वी हिस्से में स्थित है जहाँ अशान्तिपूर्ण हालात हैं.

उस हमले में कम से कम 131 लोग मारे गए थे, जिनमें 17 महिलाएँ और 12 बच्चे थे. आठ अन्य लोग घायल हुए थे.

जाँच को समर्थन

संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता स्तेफ़ान दुजैरिक ने एक वक्तव्य में कहा है, “महासचिव ने हमले के पीड़ित परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना भी.”

वक्तव्य में कहा गया है कि महासचिव ने काँगो सरकार द्वारा इस हमले के दोषियों को न्याय के कटघरे में लाने के इरादे से, इस हमले की जाँच कराने के फ़ैसले का स्वागत किया है.

इस बीच डीआरसी में यूएन मानवाधिकार कार्यालय, और देश में संयुक्त राष्ट्र शान्तिरक्षा अभियान – MONUSCO, इन जाँच प्रयासों में, सरकार को समर्थन देना जारी रखेंगे.

युद्धक गतिविधियाँ तत्काल रुकें

प्रवक्ता द्वारा जारी वक्तव्य में कहा गया है, “महासचिव एम23 गुट और तमाम अन्य सशस्त्र गुटों से, युद्धक गतिविधियाँ तत्काल रोकने और बना शस्त्र हथियार डालने का आग्रह करते हैं.”

एंतोनियो गुटेरेश ने तमाम पक्षों से, प्रभावित समुदायों तक मानवीय सहायता पहुँचाना आसान बनाने और, आम लोगों की सुरक्षा व अन्तरराष्ट्रीय मानवीय क़ानून का सम्मान सुनिश्चित करने में सहयोग का आहवान भी किया है.

यूएन प्रमख ने देश में, शान्ति व स्थिरता बहाली के सरकार व लोगों के प्रयासों में, संयुक्त राष्ट्र के सतत समर्थन को भी रेखांकित किया है.

ये हाल के हमले, डीआरसी के पूर्वी क्षेत्र में सशस्त्र गुटों द्वारा आम लोगों पर की जा रही हिंसा का हिस्सा थे.

MONUSCO की प्रमुख बिन्तौ किएटा ने शुक्रवार को, ताज़ा हालात की जानकारी सुरक्षा परिषद के सामने रखी.

उन्होंने राजदूतों को बताया कि डीआरसी के पूर्वी क्षेत्र में सुरक्षा स्थिति में, पिछले कुछ सप्ताहों के दौरान तेज़ी से गिरावट आई है.

Source: संयुक्त राष्ट्र समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *